::

Search

सुन्नियों का नारा है अहमद रज़ा हमारा है / Sunniyon Ka Nara Hai Ahmad Raza Hamara Hai

  • Share this:
सुन्नियों का नारा है अहमद रज़ा हमारा है / Sunniyon Ka Nara Hai Ahmad Raza Hamara Hai

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

jab mai.n ne sunaai naa't-e-nabi
sun ho gaya najdi sunte hi
sunni ne suna, sun kar ye kaha
sub.hanallah, sub.hanallah

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

raza ke naam par saara zamaana naaz karta hai
ye wo mansab hai jo ik KHush-qismat ko milta hai

raza ke naam par marte hai.n laakho.n log duniya me.n
koi hans hans ke marta hai, koi jal jal ke marta hai

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

jaam-e-kausar pee gae to maahtaabi ho gae
Gam se murjhaae hue chehre gulaabi ho gae

bu-bakar, faarooq-o-'usmaa.n, haidar-o-talha, bilaal
aamina ke chaand ko dekha, sahaabi ho gae

qadri-o-ashrafi, razawi bane ahl-e-sunan
kauwa jitne khaane waale the wahaabi ho gae

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

tu ne baatil ko miTaaya, ai imaam ahmad raza !
deen ka Danka bajaaya, ai imaam ahmad raza !

zor baatil aur zalaalat ka tha jis dam hind me.n
tu mujaddid ban ke aaya, ai imaam ahmad raza !

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

zamaana toofaa.n uThaae lekin
jahaa.n raza ka Gulaam hoga
wahaa.n sada-e-durood hogi
salaam hoga, qayaam hoga

agar qayaamat me.n is sadi ke
tamaam shaa'ir bulaae jaae.n
muqaabala phir kalaam ka ho
raza imaamul-kalaam hoga

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

saare jahaa.n pe chaaya, ahmad raza hamaara
sunni ke dil ko bhaaya, ahmad raza hamaara
mushkil me.n pa.D gae the saare jahaa.n ke sunni
jis ne hame.n bachaaya, ahmad raza hamaara

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

ya KHuda ! bazm-e-kaunain me.n taa-abad
sham'-e-bazm-e-hidaayat salaamat rahe
maslak-e-aa'la hazrat ke jitne hai.n phool
saare phoolo.n ki nikhat salaamat rahe

roz-e-mehshar agar mujh se poochhe KHuda
bol aal-e-rasool tu laaya hai kya
'arz kar doonga laaya hu.n ahmad raza
ya KHuda ! ye amaanat salaamat rahe

laakh jalte rahe.n dushmanaan-e-raza
kam na honge kabhi mad.h-KHwaan-e-raza
keh rahe hai.n sabhi 'aashiqaan-e-raza
maslak-e-aa'la hazrat salaamat rahe

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

nabi ki mid.hat jo karna ham ko sikha raha hai, mera raza hai
hamaare dil me.n nabi ki 'azmat biTha raha hai, mera raza hai

hazaaro.n tasneefe.n aa'la hazrat jo aaj ham ko mili hui.n hai.n
jo aaj bhi sunniyat ki 'azmat bacha raha hai, mera raza hai

sahaabiyo.n se kahe.n ye aaqa ki aane waala hai mera 'aashiq
lo aa raha hai, wo aa raha hai, jo aa raha hai, mera raza hai

banaao Toli, lagaao chille, chura na paaoge imaa.n mera
jo najdiyo.n se hamaara imaa.n bacha raha hai, mera raza hai

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

nabi ki mid.hat jo karna ham ko sikha raha hai, mera raza hai
hamaare dil me.n nabi ki 'azmat biTha raha hai, mera raza hai

meri kya auqaat ! kya likhu.n mai.n ! qalam me.n itni nahi.n hai taaqat
Salim se jo nabi ki naa'te.n likha raha hai, mera raza hai

wahaabiyo.n ka naseeb hi ye ki kauwe khaae.n wo kaale kaale
jo sunniyo.n ko murG-e-musallam khila raha hai, mera raza hai

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

hajj ada karne gaya tha ek najdi ab ke saal
sang-rezi ke liye us ko mina jaana pa.Da

ek kankar maara hi tha, kaan me.n aai sada
tu to apna aadmi tha, tujh ko ye kya ho gaya ?

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

baa-KHuda mulk-e-suKHan ki shaan hai ahmad raza
mustafa ke 'aashiqo.n ki jaan hai ahmad raza

najdiya ! Takraaega to KHaak mil jaaega
najdiyo.n ke waaste toofaan hai ahmad raza

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

ai Na'eem Akhtar ! sar-e-baazaar karte jaaenge
aa'la hazrat ka sabhi parchaar karte jaaenge

is ka Gam kuchh bhi nahi.n hai, chaahe duniya kuchh kahe
jab talak hai saans un se pyaar karte jaaenge

sunniyo.n ka naa'ra hai, ahmad raza hamaara hai

 

Lyrics In Hindi 


सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

जब मैं ने सुनाई ना'त-ए-नबी
सुन हो गया नज्दी सुनते ही
सुन्नी ने सुना, सुन कर ये कहा
सुब्हानल्लाह, सुब्हानल्लाह

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

रज़ा के नाम पर सारा ज़माना नाज़ करता है
ये वो मंसब है जो इक ख़ुश-क़िस्मत को मिलता है

रज़ा के नाम पर मरते हैं लाखों लोग दुनिया में
कोई हँस हँस के मरता है, कोई जल जल के मरता है

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

जाम-ए-कौसर पी गए तो माहताबी हो गए
ग़म से मुरझाए हुए चेहरे गुलाबी हो गए

बू-बकर, फ़ारूक़-ओ-'उस्माँ, हैदर-ओ-तल्हा, बिलाल
आमिना के चाँद को देखा, सहाबी हो गए

क़ादरी-ओ-अशरफ़ी, रज़वी बने अहल-ए-सुनन
कौवा जितने खाने वाले थे वहाबी हो गए

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

तू ने बातिल को मिटाया, ऐ इमाम अहमद रज़ा !
दीन का डंका बजाया, ऐ इमाम अहमद रज़ा !

ज़ोर बाति़ल और ज़लालत का था जिस दम हिन्द में
तू मुजद्दिद बन के आया, ऐ इमाम अहमद रज़ा !

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

ज़माना तूफ़ाँ उठाए लेकिन जहाँ रज़ा का ग़ुलाम होगा
वहाँ सदा-ए-दुरूद होगी, सलाम होगा, क़याम होगा

अगर क़यामत में इस सदी के तमाम शा'इर बुलाए जाएँ
मुक़ाबला फिर कलाम का हो, रज़ा इमामुल-कलाम होगा

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

सारे जहाँ पे छाया, अहमद रज़ा हमारा
सुन्नी के दिल को भाया, अहमद रज़ा हमारा
मुश्किल में पड़ गए थे सारे जहाँ के सुन्नी
जिस ने हमें बचाया, अहमद रज़ा हमारा

सुन्नियों का नारा है, अह़मद रज़ा हमारा है

या ख़ुदा ! बज़्म-ए-कौनैन में ता-अबद
शम'-ए-बज़्म-ए-हिदायत सलामत रहे
मस्लक-ए-आ'ला हज़रत के जितने हैं फूल
सारे फूलों की निकहत सलामत रहे

रोज़-ए-महशर अगर मुझ से पूछे ख़ुदा
बोल आल-ए-रसूल तू लाया है क्या
'अर्ज़ कर दूँगा लाया हूँ अहमद रज़ा
या ख़ुदा ! ये अमानत सलामत रहे

लाख जलते रहें दुश्मनान-ए-रज़ा
कम न होंगे कभी मदह-ख़्वान-ए-रज़ा
कह रहे हैं सभी 'आशिक़ान-ए-रज़ा
मस्लक-ए-आ'ला हज़रत सलामत रहे

सुन्नियों का नारा है, अह़मद रज़ा हमारा है

नबी की मिदहत जो करना हम को सिखा रहा है, मेरा रज़ा है
हमारे दिल में नबी की 'अज़मत बिठा रहा है, मेरा रज़ा है

हज़ारों तसनीफ़ें आ'ला हज़रत जो आज हम को मिली हुईं हैं
जो आज भी सुन्नियत की 'अज़मत बचा रहा है, मेरा रज़ा है

सहाबियों से कहें ये आक़ा कि आने वाला है मेरा 'आशिक़
लो आ रहा है, वो आ रहा है, जो आ रहा है, मेरा रज़ा है

बनाओ टोली, लगाओ चिल्ले, चुरा न पाओगे ईमाँ मेरा
जो नज्दियों से हमारा ईमाँ बचा रहा है, मेरा रज़ा है

सुन्नियों का नारा है, अह़मद रज़ा हमारा है

नबी की मिदहत जो करना हमको सीखा रहा है, मेरा रज़ा है
हमारे दिल में नबी की 'अज़मत बिठा रहा है, मेरा रज़ा है

मेरी क्या औक़ात ! क्या लिखूँ मैं ! क़लम में इतनी नहीं है ताक़त
सलीम से जो नबी की ना'तें लिखा रहा है, मेरा रज़ा है

वहाबियों का नसीब ही ये कि कौवे खाएँ वो काले काले
जो सुन्नियों को मुर्ग़-ए-मुसल्लम खिला रहा है, मेरा रज़ा है

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

हज अदा करने गया था एक नज्दी अब के साल
संग-रेज़ी के लिए उस को मिना जाना पड़ा

एक कंकर मारा ही था, कान में आई सदा
तू तो अपना आदमी था, तुझ को ये क्या हो गया ?

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

बा-ख़ुदा मुल्क-ए-सुख़न की शान है अहमद रज़ा
मुस्तफ़ा के 'आशिक़ों की जान है अहमद रज़ा

नज्दिया ! टकराएगा तो ख़ाक में मिल जाएगा
नज्दियों के वास्ते तूफ़ान है अहमद रज़ा

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

ऐ न'ईम अख़्तर ! सर-ए-बाज़ार करते जाएँगे
आ'ला हज़रत का सभी परचार करते जाएँगे

इस का ग़म कुछ भी नहीं है, चाहे दुनिया कुछ कहे
जब तलक है साँस उन से प्यार करते जाएँगे

सुन्नियों का ना'रा है, अहमद रज़ा हमारा है

Sarwara Shaha Karima Lyrics | Ashrafi Tarana

Mohammad Wasim

Mohammad Wasim

Kam Wo Le Lijiye Tumko Jo Razi Kare, Theek Ho Naame Raza Tumpe Karoro Durood.

best naat |rapid naat test |naat test |urdu naat |har waqt tasawwur mein naat lyrics |a to z naat mp3 download |junaid jamshed naat |new naat sharif |naat assay |naat allah hu allah |naat audio |naat allah allah |naat app |naat allah mera sona hai |naat arabic |naat aptima |naat akram rahi|naat album |arabic naat |audio naat |audio naat download |ab to bas ek hi dhun hai naat lyrics |aye sabz gumbad wale naat lyrics |arbi naat |atif aslam naat |allah huma sale ala naat lyrics |rabic naat ringtone |naat blood test |naat by junaid jamshed  |naat beautiful |naat book |naat battery |naat by veena malik |nat bug |naat bhar do jholi |est naat 2023 | naat 2024 coming soon |bangla naat |best naat in urdu |beautiful naat |naat lyrics in english |naat lyrics in hindi|naat lyrics in urdu |naat lyrics in english and hindi